Sunday, March 6, 2011



























तड़प से जाते हैं हम, रूठ कर यूँ जाया न करो 
ऐ सितमगर रोते हुओं को और रुलाया न करो

जाना हीं  हो तुम्हे,  तो जाओ  कुछ  इस  तरह 
ले जाओ निशानियाँ, यादों में भी आया न करो


हमे  सुनाकर  बेवफाइयों  के किस्से  बार बार 
हमारे सब्र की  इन्तेहाँ  को आजमाया न करो

 
न आता  हो तुम्हे  निभाना, तो रिश्ते बनाकर
कसमों  वादों में  किसी को  उलझाया  न करो


 हँसा कर एक बार यूँ  बार बार रुला देते हों हमें 
अब रहने दो तन्हा, महफ़िलों में बुलाया न करो

18 comments:

  1. आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
    प्रस्तुति भी कल के चर्चा मंच का आकर्षण बनी है
    कल (7-3-2011) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट
    देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
    अवगत कराइयेगा और हमारा हौसला बढाइयेगा।

    http://charchamanch.blogspot.com/

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर रचना है!

    ReplyDelete
  3. apki lekhni ki jo sab se acchi baat hai vo hai sadgi. halke-2 maan main utarti jaati hai

    ReplyDelete
  4. अच्‍छी रचना।
    आपकी रचना की तारीफ में सिर्फ इतना कहना है,
    ' कीजिए इजाद कोई और अंदाज ए सितम,
    दोस्‍त बनकर लूटने का फन पुराना हो गया।'

    ReplyDelete
  5. एहसासों को खूबसूरती से पिरोया है

    ReplyDelete
  6. .

    आपके जैसे भावों को कभी प्रसादजी ने कुछ यूँ व्यक्त किया था :
    "क्या हमने कह दिया, हुए क्यों रुष्ट, हमें बताओ तो.
    ठहरो, सुन लो बात हमारी, तनक ना जाओ, आओ तो....

    ... पूरी कविता बहुत ही गीतियुक्त है.... कभी अवश्य पढियेगा.

    .

    ReplyDelete
  7. प्रतुल वशिस्ठ जी ने ठीक कहा, प्रशाद जी के भावो को आगे बढ़ाती एक रचना, खूबसूरत रचना बधाई

    ReplyDelete
  8. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  9. बेहद शानदार लाजवाब गज़ल ।
    एक-एक शे’र लाजवाब.....

    ReplyDelete
  10. बहुत सुन्दर भावपूर्ण रचना..

    ReplyDelete
  11. खुबसूरत गज़ल हर शेर दाद के क़ाबिल, मुबारक हो

    ReplyDelete
  12. गज़ल शुरू से आखिर तक ही एक ही डोर में बंधे रखती है. खूबसूरत अंदाज़ है.

    ReplyDelete
  13. आज मंगलवार 8 मार्च 2011 के
    महत्वपूर्ण दिन "अन्त रार्ष्ट्रीय महिला दिवस" के मोके पर देश व दुनिया की समस्त महिला ब्लोगर्स को "सुगना फाऊंडेशन जोधपुर "और "आज का आगरा" की ओर हार्दिक शुभकामनाएँ.. आपका आपना

    ReplyDelete
  14. bouth he aacha post hai aapka ...
    विसीट मायी ब्लॉग
    Music Bol
    Lyrics Mantra

    ReplyDelete